Home उत्तरकाशी दावे फूस, घर घर नल, पर नलो पर नही आता जल, मीलो दूर से खच्चरों पर लाया जा रहा है पीने का पानी। पढ़े पूरी खबर……

दावे फूस, घर घर नल, पर नलो पर नही आता जल, मीलो दूर से खच्चरों पर लाया जा रहा है पीने का पानी। पढ़े पूरी खबर……

1 second read
0
0
177

सुरेश चंद रमोला
ब्रह्मखाल

सरकार की महत्वाकांक्षी योजना घर घर नल ,हर नल जल को कब पंख लगेंगे इसका ग्रामीणों को आज भी इंतजार है। नेता बडे बडे दावे भले ही करते है कि पानी के बिना अब कोई प्यासे नही रहेंगे, मगर जुग्याडा, कुरीसौड, रेशगी , खलियाणढुंग, जसपुर और देवलडांडा के ग्रामीणों की दुर्दशा देखें तो यहां लोग पानी की एक बूंद के लिए महीनों से तरस रहे है। ये सभी गांव प्रखंड डुंडा के ग्राम सभा टिपरा और जुणगा के अंतर्गत आते है। पेयजल आपूर्ति सही तरीके से हो और पानी के लिए कोई परेशान न रहे इसके लिए विभाग ने इन गांवो मे दस पीटीसी और एक जूनियर अभियंता भी रखे है मगर फिर भी यहां के ग्रामीणों ने पिछले दो महीनो से नलो पर एक बूंद पानी भी नही देखा। गांव के लोग दो किलोमीटर दूर एक गदेरे से घोडे खच्चरों और कंधो पर पानी ढो रहे है। ग्राम प्रधान सीमा गौड़ बताती है कि इन गांवो के लोग स्वच्छ पेयजल के बजाय दूषित गदेरे (खड्ड)का पानी पीने को मजबूर है विभाग के लोगो से बात करने पर कोई सुनने को तैयार नही है। इन गांवो मे मवेशियों को भी पूरा पानी नही मिल पा रहा और गांव के लोग आदिवासियों की तरह जीवन जीने को मजबूर  है। सरकार के दावे यहां कही धरातल पर नही दिखते और जिम्मेदार कर्मचारी गहरी नींद मे है । ग्रामीणों ने कहा कि यदि शीघ्र नलो पर पानी नही आया तो उनके सब्र का बांध टूट जायेगा और वे खाली बर्तनो के साथ डीएम कार्यालय का घेराव कर देंगे।

टीम यमुनोत्री Express

166 Views
Load More Related Articles
Load More By Smartwork
Load More In उत्तरकाशी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

किसके भरोसे रुकें पहाड़ में, जीवन ही सुरक्षित नहीं है! सिस्टम को शायद ही शर्म आए, पहाड़ी तो भगवान के ही भरोसे,पढ़े पूरी खबर……

दिनेश शास्त्री देहरादून। उत्तराखंड के पहाड़ और पहाड़ी दोनों कराह रहे हैं लेकिन सिस्टम है क…