Home उत्तरकाशी उत्तरकाशी:-जिलाधिकारी ने चौपाल लगाकर सुनी ग्रामीणों की समस्यायें, सम्बन्धित अधिकारियों को दिए निस्तारण के निर्देश

उत्तरकाशी:-जिलाधिकारी ने चौपाल लगाकर सुनी ग्रामीणों की समस्यायें, सम्बन्धित अधिकारियों को दिए निस्तारण के निर्देश

2 second read
0
0
353

 

जयप्रकाश बहुगुणा
उत्तरकाशी

सरकार जनता के द्वार कार्यक्रम के तहत जिलाधिकारी अभिषेक रुहेला शनिवार को विकास खंड डुंडा के दूरस्थ गांव भेटियारा पहुंचे। डीएम ने रेखीय विभागों के अधिकारियों की उपस्थिति में चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्या सुनीं। अधिकांश समस्याओं और शिकायतों का मौके पर निस्तारण किया गया।
शिविर में ग्राम प्रधान भेटियारा द्वारा गांव की समस्या से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि भेटियारा में एक हजार नाली भूमि है,कटीली झाड़ियां उगी है, जिससे हिंसक जंगली जानवरों का भय रहता है। उगी झाड़ियों को काटने एवं चारा प्रजाति के वृक्ष लगाने की मांग की गई। इसके अतिरिक्त दिखोली-भेटियारा सड़क मार्ग निर्माण का मलबा कार्यदायी संस्था द्वारा डंपिंग जॉन के बजाय गदेरे में डाला जा रहा है जिस कारण ग्रामीणों के खेत एवं पैदल मार्ग क्षतिग्रस्त हुए है। साथ ही गांव में स्वरोजगार को बढ़ावा देने हेतु बैंकर्स से स्वरोजगार की लंबित फाइलों का निस्तारण कर ऋण मुहैया कराया जाय। उत्तरकाशी से धौंत्री तिलवाड़ा सड़क मार्ग आलवेदर सड़क में रखी जाए। ताकि पर्यटन को औऱ बढ़ावा देने के साथ चारधाम यात्रा मार्ग का भी सुगम मार्ग बन सकें। क्षेत्र की दो बड़ी नदिया बह रही है मिनी पावर प्लांट लगाने की मांग की गई।क्षेत्र पंचायत सदस्य द्वारा अवगत कराया गया कि मनरेगा कनिष्ठ अभियंता नही होने के कारण ग्रामीणों को 100 दिन का रोजगार नही मिल पा रहा है। उन्होंने कनिष्ठ अभियंता की तैनाती करने की मांग की गई। ताकि ग्रामीणों को सौ दिन का रोजगार मिल सकें। महावीर प्रसाद नौटियाल द्वारा पेयजल की आपूर्ति को लेकर अपनी समस्या रखी। ग्रामीणों द्वारा मनरेगा जॉब कार्ड बनाने की मांग की गई। ग्राम प्रधान सिरी द्वारा कौनगढ़ में प्राथमिक विद्यालय की छत मरम्मत,शौचालय और चारदीवारी की मांग की गई।
जिलाधिकारी ने उक्त समस्याओं के समाधान एवं निराकरण के लिए सम्बंधित अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए। तथा तय सीमा के भीतर लंबित समस्याओं के निस्तारण करने के निर्देश दिए। ग्रामीणों द्वारा उजागर समस्याओं को लेकर जिलाधिकारी ने भेटियारा गांव के पास उपजी झाड़ियों के कटान के लिए डीडीओ को प्लान बनाने एवं चारा घास के लिए पशुपालन विभाग को नेपियर घास इसी मानसून सत्र में लगाने के निर्देश दिए। डीएम ने कार्यदायी संस्था को सड़क का मलबा डंपिंग स्थान पर डालने के निर्देश दिए। जिन खेतो में मलबा है उनका सम्बंधित विभाग अधिग्रहण करने की कार्यवाही सुनिश्चित करें। इस सम्बंध में तहसीलदार को स्थलीय निरीक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। मनरेगा जॉब कार्ड को लेकर जिलाधिकारी ने तीन दिन के भीतर जॉब कार्ड बनाने के निर्देश सम्बंधित अधिकारी को दिए। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जिन पात्र लाभार्थियों को आवास की आवश्यकता है उनके नाम इत्यादि की सूची तैयार करने के निर्देश बीडीओ को दिए।शिविर में प्रधानमंत्री आवास,नहर,पानी,पेंशन, शौचालय निर्माण,रास्ते आदि को लेकर प्रमुख समस्या रही।
गौरतलब है कि डीएम इससे पहले जिले का सबसे दूर एवं सीमावर्ती गांव जौड़ाव व पिलंग का रेखीय विभागों के अधिकारियों के साथ भ्रमण कर चुके है। तथा ग्रामीणों की समस्याओं से रूबरू होकर उनके समाधान व निस्तारण के लिए ठोस कदम उठाए गए है।
इस दौरान प्रदेश जिला पंचायत संगठन के अध्यक्ष प्रदीप भट्ट, जिला पंचायत सदस्य अरविंद लाल,ग्राम प्रधान कुशलामणी नौटियाल,क्षेत्र पंचायत सदस्य दीपक नौटियाल,संतोष नौटियाल,पुनीत नौटियाल,डीडीओ केके पंत,सीएचओ डॉ रजनीश सिंह,जिला समाज कल्याण अधिकारी कुलदीप रावत, कृषि एवं भूमि संरक्षण अधिकारी सचिन कुमार,गोपाल राणा, अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई भरत राम सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

323 Views
Load More Related Articles
Load More By jayparkash bahuguna
Load More In उत्तरकाशी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

उत्तरकाशी:त्योहारी सीजन के मध्यनजर एसडीएम व सीओ बड़कोट ने ली सीएलजी मेम्बर की बैठक

  जयप्रकाश बहुगुणा बड़कोट/उत्तरकाशी     आगामी रक्षाबंधन, स्वतन्त्रता दिवस एव…